फाइनेंशियल प्लानिंग: इमर्जेंसी फंड और रिस्क मैनेजमेंट सहित आज उठाए गए ये 7 कदम आपको दिला सकते हैं आर्थिक आज… – Dainik Bhaskar

B

यदि आप आर्थिक आजादी चाहते हैं या कम से कम जरूरत, खर्च और आय के मामले में मजबूत बनना चाहते हैं तो कुछ जरूरी कदम उठाने होंगे। याद रखें कि आर्थिक सुकून बड़ी उपलब्धि होती है। जाहिर है, यह आसानी से हासिल नहीं होगी। इसके लिए एक प्लान बनाना होता है और उसके साथ टिके रहने की जरूरत होती है। आइए पर्सनलसीएफओ डॉट इन के सीईओ सुशील जैन से जानते हैं कि वित्तीय तौर पर बेहतर भविष्य के लिए आज हम क्या कर सकते हैं।
मौजूदा वित्तीय स्थिति स्पष्ट करें
सबसे पहले यह पक्का करें कि आप अपनी मौजूद वित्तीय स्थिति से अच्छी तरह वाकिफ हैं। आय, बचत, निवेश, बीमा जैसे सभी फाइनेंशियल्स व्यवस्थित कर लें। यदि आपके सामने मौजूदा वित्तीय स्थिति की साफ तस्वीर नहीं होगी तो भविष्य के लिए प्लान बनाना मुनासिब नहीं होगा।
कैश-फ्लो और कर्ज पर फोकस
आय के सभी स्रोतों और खर्च के बीच फर्क का हिसाब लगाएं। इसमें जीवनसाथी की आय भी जोड़ सकते हैं। अब आप अलग-अलग खर्चों को जोड़कर पूरे घर खर्च का हिसाब लगाएं। इसमें घर की आम जरूरतों के अलावा बच्चों की पढ़ाई और लोन की किस्तें जैसे खर्च शामिल हैं। अब यह देखें कि आप पर कर्ज का कुल कितना बोझ है? होम लोन के अलावा अन्य सभी कर्जों को जल्द-से-जल्द चुकाने की कोशिश करें।
इमर्जेंसी फंड और रिस्क मैनेजमेंट
बुरे-से-बुरे वक्त के लिए खुद को हमेशा तैयार रखें। इसके लिए आपके पास हमेशा कम-से-कम छह महीनों के वेतन के बराबर इमर्जेंसी फंड होना चाहिए। इसके अलावा पर्याप्त इंश्योरेंस कवर भी जरूरी है। इसमें लाइफ इंश्योरेंस और पूरे परिवार को कवर करने वाला हेल्थ इंश्योरेंस शामिल है। सभी तरह के जोखिम से निपटने की तैयारी के बाद भविष्य के लक्ष्य हासिल करने की योजना बनाएं।
वित्तीय लक्ष्यों का प्रबंधन
कार या मकान जैसे आगामी वर्षों के लक्ष्य तय करें और हरेक के लिए अलग-अलग योजना बनाएं। इससे आपको अंदाजा लग जाएगा कौन सा लक्ष्य हासिल करने के लिए आपके पास कितना समय है। इस हिसाब से छोटी या लंबी अवधि के निवेश के फैसले करें।
वेल्थ क्रिएशन व एक्स्ट्रा इनकम
वेल्थ क्रिएशन में समय लगता है और इसके लिए धैर्य की जरूरत होती है। निवेश के सही साधन में पैसा लगाना इसका सबसे अच्छा तरीका है। जोखिम उठाने की अपनी क्षमता और लक्ष्य के हिसाब से अपने लिए सही एसेट क्लास (इक्विटी, डेट, गोल्ड या रियल एस्टेट) का चयन करें और बचत के पैसे का निवेश शुरू करें।
वेल्थ मैनेजमेंट
जैसे-जैसे संपत्ति बढ़ती जाती है, वैसे-वैसे उसके प्रबंधन की जरूरत होती है। आपको यह सुनिश्चित करना होता है कि अभी जैसे अनिश्चितता वाले माहौल में भी ग्रोथ महंगाई दर से ज्यादा हो।
सक्सेशन प्लान, वसीयत बनाएं
आखिर में आप चाहेंगे कि आपने जो संपत्ति बनाई है, वह उत्तराधिकारियों को सही तरीके से ट्रांसफर हो जाए। इसके लिए सक्सेशन प्लान बनाना होगा। वसीयत इसका अच्छा तरीका हो सकता है।
Copyright © 2022-23 DB Corp ltd., All Rights Reserved
This website follows the DNPA Code of Ethics.

source

🤞 Don’t miss these tips!

We don’t spam! Read more in our [link]privacy policy[/link]

close

Don’t miss these tips!

We don’t spam! Read our [link]privacy policy[/link] for more info.


    Leave a comment
    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

    H
    Hemant Malhotra
    Explaining the Market Terms: Bull and Bear Markets
    July 2, 2022
    Save
    Explaining the Market Terms: Bull and Bear Markets
    H
    Hemant Malhotra
    Fintech's Game-Changing Opportunities for Small Business
    January 16, 2021
    Save
    Fintech's Game-Changing Opportunities for Small Business
    H
    Hemant Malhotra
    Top 10 Fintech for Low Income Personal Loan in India for 2021
    March 10, 2021
    Save
    Top 10 Fintech for Low Income Personal Loan in India for 2021
    Sponsored
    Sponsored Pix
    Subscribe to Our Newsletter

    Don’t miss these tips!

    We don’t spam! Read our [link]privacy policy[/link] for more info.