फाइनेंशियल प्लानिंग: 5 बड़ी गलतियां, जो गड़बड़ा देती हैं हमारा वित्तीय गणित, पहचानिए और दूर कीजिए – News18 हिंदी

B

नई दिल्‍ली. वित्तीय अनुशासन और फाइनेंस को मैनेज करने की सही जानकारी होना अत्‍यंत आवश्‍क है. समय के साथ धन में वृद्धि और जीवन स्‍तर में बदलाव सही वित्तीय प्रबंधन से ही हो सकता है. परंतु, अफसोसजनक पहलू यह है कि लगभग हर भारतीय फाइनेंशियल मैनेजमेंट में मात खा जाता है और कुछ बड़ी गलतियां करता है. अपनी बचत को नकदी के रूप में अपने पास एकत्रित कर लेना या फिर किसी एक ही जगह अपनी सारी पूंजी निवेश कर देना, ज्‍यादातर भारतीय की आदत में शुमार है.
लाइव मिंट डॉट कॉम की एक रिपोर्ट के अनुसार, अपने वित्तीय मामलों को हैंडल करते वक्‍त की गई गलतियों का असर बहुत गहरा होता है. यह न केवल आप पर, बल्कि आपके परिवार पर भी बहुत भारी पड़ती हैं. इसलिए फाइनेंशियल प्‍लानिंग और फाइनेंस मैनेजमेंट बहुत सोच-समझकर करना चाहिए. अगर आपको इसके बारे में ज्‍यादा ज्ञान नहीं है तो किसी वित्तीय सलाहकार से इस संबंध में सलाह लेना हितकर होता है. आज हम आपको पांच ऐसी ही गलतियों के बारे में बता रहे हैं जो लगभग हर भारतीय अपने वित्तीय मामलों को हैंडल करते वक्‍त करता है.
CBDT का नया नियम! आय कम होने पर भी कुछ लोगों को भरनी होगी ITR, कहीं आप भी तो नहीं इनमें शामिल?
नकदी से प्‍यार
ज्‍यादातर भारतीय अपनी बचत नकदी के रूप में अपने पास ही रखते हैं. नोटबंदी के वक्‍त हमारे घरों ने जिस तरह से करेंसी नोट उगले, इससे पता चलता है कि हमें कैश से कितना प्‍यार है. लेकिन, अपनी बचत को नकदी के रूप में घर में अलमारी या संदूक में छिपाकर रखना समझदारी नहीं है. इससे कोई रिटर्न नहीं मिलता. इसलिए अपनी बचत को किसी बक्से में कैद करके रखने से अच्‍छा है कि उसे कहीं निवेश करें. अपनी बचत को आप ऐसे फंड में लगा सकते हैं, जिसमें ज्‍यादा रिटर्न मिलता हो.
फाइनेंशियल प्‍लानिंग के बारे में तो हम सोचते ही नहीं 
हमारे देश में ज्‍यादातर लोग फाइनेंशियल प्‍लानिंग नहीं करते हैं. इसके अलावा वे अपने वित्तीय लक्ष्‍य भी निर्धारित नहीं करते हैं. ज्‍यादातर लोग जानने की कोशिश ही नहीं करते कि भविष्‍य में उनकी आय और खर्च का क्‍या गणित होगा? उन्‍हें किन कामों के लिए कितने फंड की आवश्‍यकता होगी? अगर कोई इमरजेंसी आई तो क्‍या होगा? फाइनेशियल प्‍लानिंग और वित्तीय लक्ष्‍यों का निर्धारण न होने के कारण बहुत-सी परेशानियों का सामना करना पड़ता है.
जवानी मजे करने के लिए, निवेश तो बुढ़ापे का काम 
निवेश के मामले में भी अधिकतर भारतीय बहुत लेट-लतीफ हैं. यहां आम धारणा है कि बॉन्‍ड्स और फंड्स में उन्‍हीं लोगों को निवेश करना चाहिए, जो शादीशुदा हैं और परिवार वाले हैं. इसी धारणा के चलते यंगस्‍टर्स अपनी सारी आय मजे करने में उड़ा देते हैं. यहीं पर युवा गलती करते हैं. उदाहरण के लिए अगर कोई युवा 25 साल की उम्र में हर महीने 100 रुपये म्‍यूचुअल फंड में निवेश करता है तो उसके पास उसकी रिटायरमेंट के वक्‍त तगड़ा फंड हो सकता है. इससे आप अंदाजा लगा सकते हैं कि अगर युवावस्‍था से ही निवेश शुरू किया जाए तो कितना फायदा होता है.
बीमा तो धन की बर्बादी
अधिकतर भारतीय इंश्‍योरेंस को धन की बर्बादी मानते हैं. लेकिन, वास्‍तव में ऐसा है नहीं. जीवन बीमा और स्‍वास्‍थ्‍य बीमा में किया गया निवेश न केवल आपको वित्तीय सुरक्षा प्रदान करता है, बल्कि यह मानसिक शांति भी प्रदान करता है. अगर आपकी कमाई से ही आपका परिवार चलता है तो आपको बीमा जरूर कराना चाहिए. क्‍योंकि अगर दुर्घटनावश आप संसार में नहीं रहते हैं तो आपके परिवार आपका बीमा होने पर अच्‍छी-खासी रकम मिल जाती है, जिससे उनका गुजारा आराम से हो जाता है.
ये भी पढ़ें- ITR भरने के लिए खुल गया इनकम टैक्स विभाग का पोर्टल, 31 जुलाई लास्ट डेट, जानिए पूरा प्रोसेस
सारा पैसा एक जगह लगाना
आमतौर पर निवेश को लेकर भी ज्‍यादातर भारतीय एक गलती करते हैं. वो है अपना पैसा एक ही एसेट में लगा देना. जैसे अपने सारे फंड से प्रॉपर्टी या फिर सोना खरीद लेना. यह बहुत बड़ी गलती है. इससे धन की वृद्धि रुक जाती है. यही नहीं, मंदी आने पर आपका पैसा एक जगह फंस जाता है. इसलिए एक ही जगह सारा पैसा निवेश करने की गलती न करें. अपने फंड को अलग-अलग एसेट्स में लगाएं. डाइवर्सिफाइड पोर्टफोलियो में कई जगह से रिटर्न मिलता है. यही नहीं इससे एक जगह नुकसान होने पर भी आपका बजट नहीं गड़बड़ाता क्‍योंकि दूसरे जगह किए गए निवेश से आपको रिटर्न मिलता रहता है.
ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी | आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी |
Tags: Investment, Investment tips, Personal finance

विराट कोहली अब राहुल द्रविड़-रिकी पॉन्टिंग से आगे निकलेंगे, सचिन तेंदुलकर का वनडे रिकॉर्ड भी खतरे में!
T20 World Cup: युवराज सिंह को पछाड़कर रोहित शर्मा बनेंगे नए 'सिक्सर किंग'… विराट भी ज्यादा पीछे नहीं, इन 5 रिकॉर्ड का टूटना तय
दवाइयों को ऑनलाइन खरीदने से पहले जरूर जान लें ये 5 बातें

source

🤞 Don’t miss these tips!

We don’t spam! Read more in our [link]privacy policy[/link]

close

Don’t miss these tips!

We don’t spam! Read our [link]privacy policy[/link] for more info.


    Leave a comment
    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

    P
    Preeti Daga
    Banking in the Digital Age: What It Means
    August 27, 2022
    Save
    Banking in the Digital Age: What It Means
    H
    Hemant Malhotra
    How To Select The Right Bank Personal Loan
    March 18, 2021
    Save
    How To Select The Right Bank Personal Loan
    H
    Hemant Malhotra
    Fin Tech: The Future of banking
    January 25, 2021
    Save
    Fin Tech: The Future of banking
    Sponsored
    Sponsored Pix
    Subscribe to Our Newsletter

    Don’t miss these tips!

    We don’t spam! Read our [link]privacy policy[/link] for more info.