बैंक के कर्मचारी लंच के नाम पर करवा रहे घंटों का इंतजार, कहां शिकायत करने पर होगी कार्रवाई? – News18 हिंदी

B

नई दिल्ली. कई बार ऐसा होता है कि आप बैंक में जाएं और कर्मचारी आपको यह कहे कि अभी लंच चल रहा है बाद में आना. कई दफा बहुत देर तक इंतजार करने के बाद भी वे अपनी सीट पर नहीं लौटते इससे आपका कीमती समय तो बर्बाद होता ही है आपको बेवजह की तकलीफें उठानी पड़ती हैं. अगर आपको भी अपने बैंक से ऐसी शिकायत है तो इसका इलाज है.
आप अब ऐसे कर्मचारियों की शिकायत कर सकते हैं जो लंच का बहाना बनाकर आपका काम अधर में लटकाए रहते हैं. बैंक के ग्राहकों को इस प्रकार के अधिकार मिलते हैं लेकिन अधिकांश लोगों को इसके बारे में जानकारी नहीं होती. हम आपको बताएंगे कि आप ऐसे कर्मचारियों की शिकायत कहां कर सकते हैं.
ये भी पढ़ें- TDS Update : रोजाना 200 रुपये लेट फीस और 1 लाख रुपये जुर्माने से बचना है तो समय पर दाखिल करें टीडीएस का रिटर्न
बैंकिंग लोकपाल से करें शिकायत
अगर आप किसी ऐसी घटना का शिकार होते हैं तो आप इसकी शिकायत बैंकिंग लोकपाल से कर सकते हैं. यानी बैंक कर्मचारी अगर आपका काम करने में आनाकानी कर रहे हैं तो आप इसकी शिकायत सीधे बैंकिंग लोकपाल के पास लेकर जा सकते हैं.
ब्रांच हैड को शिकायत
बैंक कर्मचारी अगर काम नहीं कर रहा है तो आप इसकी शिकायत बैंक के प्रमुख को भी कर सकते हैं. ग्राहकों की शिकायत का निपटारा करने के लिए हर बैंक की अपनी प्रणाली होती है. इसे ग्रीवांस रिड्रेसल सिस्टम कहा जाता है जहां ग्राहक शिकायत दर्ज करा सकते हैं.
ये भी पढ़ें- महामारी के बाद रिकवरी मोड में बिजनेस एक्टिविटी, पहली छमाही में ऑफिस स्पेस की फ्रेश सप्लाई 96 फीसदी बढ़ी
बैंक हेल्पलाइन
इसके अलावा आप बैंक की हेल्पलाइन नंबर पर भी कर्मचारी की शिकायत कर सकते हैं. अगर आपकी शिकायत पूरी ब्रांच को लेकर है तब भी आप ऐसा कर सकते हैं. बैंक इसके लिए फोन नंबर जारी करते हैं. कई बैंक ऑनलाइन शिकायत दर्ज कराने की भी सर्विस देते हैं. यह हेल्पाइन नंबर आपको बैंक की वेबसाइट पर मिल जाएगा.
एकसाथ ब्रेक पर नहीं जा सकते कर्मचारी
आरबीआई ने एक आरटीआई के जवाब में बताया था कि बैंक के अधिकारी एक साथ लंच पर नहीं जा सकते हैं. वे एक-एक करके लंच ब्रेक ले सकते हैं. इस दौरान नॉर्मल ट्रांजेक्शन चलते रहना चाहिए. ग्राहकों को घंटों इंतजार करवाना नियम के खिलाफ है. बैंक के कर्मचारी किसी भी ग्राहक के साथ धर्म, जाति व लिंग के आधार पर भेदभाव नहीं कर सकते. इसके अलावा ने जबरन किसी कॉन्ट्रेक्ट पर हस्ताक्षर नहीं करा सकते.
ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी | आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी |
Tags: Bank, Banking reforms, Banking Sector, Business news

Monalisa Photoshoot: पिंक डीपनेक टॉप में मोनालिसा की कातिल अदाएं देख लट्टू हुए फैंस, देखिए Latest Photos
Pushpa स्टार फहाद फासिल और नजरिया ने अब तक नहीं किया बेबी प्लान, तो किस बच्चे संग दिख रहीं एक्टर की वाइफ?
Success Story: आखिर क्यों चर्चा में रहती हैं IAS टीना डाबी? जानें उनकी ज़िंदगी की पूरी कहानी

source

🤞 Don’t miss these tips!

We don’t spam! Read more in our [link]privacy policy[/link]

close

Don’t miss these tips!

We don’t spam! Read our [link]privacy policy[/link] for more info.


    Leave a comment
    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

    H
    Hemant Malhotra
    Cost of Capital: How Businessmen and Investors utilize it to examine investments?
    December 28, 2020
    Save
    Cost of Capital: How Businessmen and Investors utilize it to examine investments?
    P
    Preeti Daga
    Banking in the Digital Age: What It Means
    August 27, 2022
    Save
    Banking in the Digital Age: What It Means
    H
    Hemant Malhotra
    Exactly how to create your SBI Green PIN in seconds: Inspect step-by-step procedure
    January 1, 2021
    Save
    Exactly how to create your SBI Green PIN in seconds: Inspect step-by-step procedure
    Sponsored
    Sponsored Pix
    Subscribe to Our Newsletter

    Don’t miss these tips!

    We don’t spam! Read our [link]privacy policy[/link] for more info.