Banking Sector: इकोनॉमिक रिकवरी से अर्निंग मोमेंटम मजबूत, आगे कैसा रहेगा प्राइवेट और PSU बैंकों का प्रदर्शन – Zee Business हिंदी

B

बैंकिंग सेक्टर में एसेट क्वलिटी को लेकर चिंता कम हो रही है. (reuters)
Banking Sector Outlook: देश की सुधर रही अर्थव्यवस्था के बीच बैंकिंग सेक्टर में रिवाइवल जारी है. ज्यादातर बड़े निजी और सरकारी बैंकों का प्रदर्शन प्रीकोविड लेवल के करीब या उससे बेहतर हुआ है. क्रेडिट ग्रोथ, नेट इंटरेस्ट मार्जिन या PAT में अच्छी ग्रोथ देखने को मिल रही है. वहीं बैंकिंग सेक्टर में एसेट क्वलिटी को लेकर चिंता कम हो रही है. एनपीए धीरे धीरे कम हो रहे हैं. जबकि रीस्ट्रक्चरिंग और सरकार के दूसरे इनिशिएटिव से भी सेक्टर को सपोर्ट मिल रहा है. एक्सपर्ट का मानना है कि आने वाले दिनों मेंं बैंकिंग सेक्टर खासतौर से निजी सेक्टर का प्रदर्शन मजबूत रहने वाला है. वहीं दिसंबर तिमाही में PSU बैंकिंग सेक्टर में दमदार PAT ग्रोथ दिख सकती है.
ब्रोकरेज हाउस मोतीलाल ओसवाल का कहना है कि बैंकिंग सेक्टर की बात करें तो बिजनेस आउटलुक में लगातार सुधार हुआ है. इकोनॉमी में सुधार के चलते 17 दिसंबर 2021 तक बैंकिंग सेक्टर में क्रेडिट ग्रोथ 7.3 फीसदी दर्ज की गई है. रिटेल और SME में ज्यादातर सबसेग्मेंट में हेल्दी रिवाइवल के संकेत मिल रहे हैं. इनका प्रदर्शन प्रीकोविड लेवल से बेहतर हुआ है. हालांकि कॉरपोरेट ट्रेंड अभी म्यूटेड है. ब्रोकरेज का मानना है कि बैंकिंग सेक्टर में एसेट क्वालिटी की दिक्कत अब कम हो रही है और FY22E/FY23E तक सिस्टमैटिक लोन ग्रोथ सालाना आधार पर 7.7%/11.8% रह सकती है.


 

ब्रोकरेज हाउस के अनुसार रीस्ट्रक्चरिंग का फायदा भी बैंकिंग सेक्टर को मिल रहा है. 3QFY22E के दौरान बैंकिंग सेक्टर का प्री प्रोविजन आपरेटिंग प्रॉफिट यानी PPoP और PAT ग्रोथ 4 फीसदी और 35 फीसदी रह सकता है. प्राइवेट बैंकिंग सेक्टर का PPoP ग्रोथ सालाना आधार पर 9 फीसदी और तिमाही आधार पर 7 फीसदी रहने का अनुमान है. जबकि PAT ग्रोथ सालाना आधार पर 21 फीसदी और तिमाही आधार पर 27 फीसदी रहने का अनुमान है. पब्लिक सेक्टर बैंक में NII/PPoP ग्रोथ फ्लैट रह सकती है, जबकि PAT में सालाना आधार पर 66 फीसदी की दमदार ग्रोथ आ सकती है. स्माल फाइनेंस में AUBANK का प्रदर्शन दमदार रह सकता है. 
ब्रोकरेज हाउस का मानना है कि प्राइवेट बैंक में FY22/FY23 के दौरान लोन ग्रोथ औसतन 14%/17% रहने का अनुमान है. ICICI बैंक सालाना आधार पर 15 फीसदी, जबकि कोटक महिंद्रा बैंक और एक्सिस बैंक में 17 फीसदी और 11 फीसदी लोन ग्रोथ रह सकती है. HDFCB बैंक और इंडसइंड बैंक में 15.7 फीसदी और 11 फीसदी ग्रोथ का अनुमान है.
वहीं प्राइवेट बैंक में सालाना आधार पर NII ग्रोथ 14 फीसदी रहने का अनुमान है. ICICI बैंक में 23 फीसदी, HDFC बैंक में 14 फीसदी, इंडसइंड बैंक में 12 फीसदी जबकि कोटक महिंद्रा बैंक और एक्सिस बैंक दोनों में 10 फीसदी ग्रोथ का अनुमान है.
(Disclaimer: यहां शेयर में निवेश को लेकर सलाह ब्रोकरेज हाउस के द्वारा दी गई है. यह जी बिजनेस के निजी विचार नहीं हैं. बाजार में जोखिम होते हैं, इसलिए निवेश के पहले एक्सपर्ट की राय लें.)

source

🤞 Don’t miss these tips!

We don’t spam! Read more in our [link]privacy policy[/link]

close

Don’t miss these tips!

We don’t spam! Read our [link]privacy policy[/link] for more info.


    Leave a comment
    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

    H
    Hemant Malhotra
    What Is a No-Income Finance?
    February 12, 2021
    Save
    What Is a No-Income Finance?
    H
    Hemant Malhotra
    IDFC Bank Personal Loan
    March 11, 2021
    Save
    IDFC Bank Personal Loan
    S
    Siddhi Rajput
    Scope of Cryptocurrency in India
    December 11, 2021
    Save
    Scope of Cryptocurrency in India
    Sponsored
    Sponsored Pix
    Subscribe to Our Newsletter

    Don’t miss these tips!

    We don’t spam! Read our [link]privacy policy[/link] for more info.