NRI का भी कटता है टीडीएस, जानिए कौन है योग्य और क्या लाभ – Jansatta

B

Jansatta

देश से बाहर रहकर आय प्राप्‍त करने वाले NRI को टैक्‍स नहीं देना होता है। लेकिन अगर वे विदेश में रहकर भी भारत से आय कमाते हैं तो टैक्‍स के अधीन आ सकते हैं या भारत के सोर्स पर TDS भी कट सकता है। हालांकि टीडीएस की कटौती तभी होगी, जब भारत में अनिवासी (NRI) के रूप में योग्‍यता प्राप्त करने के बाद भारत से आय अर्जित करना जारी रखते हैं।
वित्तीय वर्ष के दौरान भारतीय टैक्‍स कानूनों के अनुसार, NRI के रूप में लंबे समय तक भारत से बाहर रह रहे हैं, तो वे अभी भी घर की संपत्ति, सावधि जमा और शेयरों जैसी संपत्ति के मालिक हो सकते हैं और भारत में सक्रिय बैंक खाते भी रख सकता है। ऐसे में अगर एनआरआई टैक्‍स के अंतर्गत आता है तो इन संपत्तियां पर भारत में आयकर अधिनियम, 1961 की धारा 195 के तहत NRI को भुगतान करने वाले किसी भी व्यक्ति के लिए TDS कटौती अनिवार्य होगा।
कोई भी व्यक्ति किसी एनआरआई को भुगतान किए गए वेतन के अलावा ब्याज या किसी अन्य राशि के माध्यम से कोई भुगतान करता है, अधिनियम की धारा 195 के तहत स्रोत पर कर कटौती करने के लिए जिम्मेदार है। कर न केवल उन भुगतानों से काटा जाना चाहिए जो शुद्ध कर योग्य आय हैं, बल्कि उन भुगतानों से भी हैं जहां भुगतान का केवल एक हिस्सा टैक्‍स के लिए उत्तरदायी हो सकता है।
उदाहरण के लिए, एनआरओ बचत अकाउंट से NRI को बैंक द्वारा ब्याज के रूप में किए गए भुगतान पर धारा 80 टीटीए के अनुसार 10,000 रुपये तक की छूट दी जा सकती है। हालांकि, ब्याज भुगतान करते समय, बैंकर एनआरआई को किए गए भुगतान पर टैक्‍स की कटौती करेगा। इस प्रकार, यदि एनआरओ बचत खाते पर किया गया सकल ब्याज भुगतान एक वित्तीय वर्ष में 18,000 रुपये है, तो टीडीएस 8,000 रुपये की अतिरिक्त आय के बजाय 18,000 रुपये से काटा जाएगा।
एनआरआई को किए गए भुगतान पर टैक्‍स कटौती की कोई सीमा नहीं है। इस प्रकार, एनआरआई की ओर से मिला आय 1 रुपये भी टीडीएस के दायरे में आएगा। इसके अलावा, आयकर कानून प्रदान करता है कि भुगतानकर्ता को ऐसी आय को आदाता (एनआरआई) के खाते में जमा करते समय या नकद में भुगतान के समय या चेक या ड्राफ्ट जारी करने या किसी अन्य मोड, जो भी पहले हो, उस पर लागू दरों पर आयकर की कटौती होगी।
पढें Personal Finance (Personalfinance News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

source

🤞 Don’t miss these tips!

We don’t spam! Read more in our [link]privacy policy[/link]

close

Don’t miss these tips!

We don’t spam! Read our [link]privacy policy[/link] for more info.


    Leave a comment
    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

    H
    Hemant Malhotra
    Home Loans: Floating vs Fixed Rates Of Interest
    February 11, 2021
    Save
    Home Loans: Floating vs Fixed Rates Of Interest
    H
    Hemant Malhotra
    Fullerton India Personal Loan
    April 22, 2021
    Save
    Fullerton India Personal Loan
    P
    Preeti Daga
    Banking in the Digital Age: What It Means
    August 27, 2022
    Save
    Banking in the Digital Age: What It Means
    Sponsored
    Sponsored Pix
    Subscribe to Our Newsletter

    Don’t miss these tips!

    We don’t spam! Read our [link]privacy policy[/link] for more info.